अब थानेदार की कुर्सी से दूर रहेंगे अनुभवहीन और दागी

309

इंस्पेक्टर और दरोगाओं को चार्ज देने में कप्तान को भी होगी मुश्किल
सीएम ने जारी किया फरमान, शानदार ट्रैक वाले ही पाएंगे यह महत्वपूर्ण पद
बदायूं। थानेदार जैसे महत्वपूर्ण पद पर अनुभवहीन और दागी इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर इस कुर्सी से अब दूर रहेंगे। वजह है कि सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने लॉ एंड आर्डर मुद्दे पर एसपी से लेकर एडीजी तक कड़ी नसीहत दी है। यह भी तय हुआ है कि जिसका ट्रैक-रेकॉर्ड शानदार होगा, उसे ही तरजीह मिलेगी। बाकी को महत्वहीन पद पर गुजारा करना होगा। इसके लिए नया पैरा-मीटर लागू हो चुका है। इतना ही नहीं जिसकी छवि ठीक नहीं होगी उसे ऐसी भी ड्यूटी से दूर रखा जाएगा, जिसमें सीधे पब्लिक डीलिंग करनी हो।
प्रदेश में बढ़ते अपराध और गिरती कानून व्यवस्था को सुधारने के लिए सीरियल एनकाउंटर और तमाम तौर-तरीके अख्तियार करने के बावजूद कानून व्यवस्था हाथ से फिसलती जा रही है। ऐसे में कई नई शुरूआत होने जा रही है। जारी इस फरमान से उन दरोगाओं को जरूरी झटका लगा है,जो स्वच्छ छवि न होने के बावजूद जुगाड़ से थानेदार की कुर्सी हथियाए बैठे हैं।
अभी तक थानेदारों की नियुक्ति में एसपी की ज्यादा चलती थी लेकिन नई व्यवस्था के बाद उनके भी हाथ बंध घए हैं। चहेतों अथवा सिफारिशी चार्ज देना मुश्किल होगा। अब पहले जैसा सब कुछ आंख मूंदकर नहीं चलने वाला है।

ठोंक बजाकर तैनात होंगे रीडर
एसपी के रीडर-पेशकार जैसी अति महत्वपूर्ण पदों पर असंवेदनशील इंस्पेक्टर तैनात करने का खामियाजा कई कप्तान भुगत चुके हैं। जनता को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ा है। अधिकारी को गुमराह करने के कारण पुलिस के अच्छे काम का भी गलत संदेश गया। बेहतर करने के बावजूद अच्छे पुलिस वाले मारे-मारे फिरते हुए शोषण का शिकार हो रहे हैं। अब ऐसा नहीं होने दिया जाएगा। अब कोतवाली के एसएसआई, एसपी के रीडर-पेशकार और डीसीआरबी प्रभारी के चयन के लिए भी कड़ी नीति अपनाई जाएगी। स्वच्छ छवि के अफसरों को मौका दिया जाएगा।

ये है थानेदारी का नया पैरामीटर
-पिछले तीन साल में विभागीय स्तर पर कोई दंड न मिला हो।
-पिछले एक साल में लाइन हाजिर या बैड एंट्री न मिली हो।
-मुकदमें या विवाद में न फंसा हो।
-पत्नी के साथ गृहक्लेश या दहेज का विवाद न हो।
-शराब माफिया, सटोरी-जुआरी और प्रॉपर्टी डीलर से सेटिंग न हो।
-जनता के साथ व्यवहार अच्छा हो।
-सभी तरह की विवेचना का उसको समझ हो, मास्टर माइंड हो।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here