सीएम तक चिट्ठी पहुंचने से पहले ही बन गया था ‘चिट्ठी बम’!

267

विधायकों-एमएलसी की ओर से जारी चिट्ठी में नहीं पड़ी है तारीख
चिट्ठी तैयार करने के बाद ही ली गई तस्वीर बाद में सुनयोजित ढंग से कर दिया वायरल
बदायूं। भाजपा विधायकों के ‘चिट्ठी बम’ को देखकर कोई भी बता देगा कि उसे किसी किसी साधारण भाजपाई ने नहीं बल्कि बड़े स्तर के नेता ने वायरल किया गया है। क्योंकि मार्च में लिखी गई इस चिट्ठी पर कोई तारीख नहीं पड़ी है। जबकि मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी अजय कुमार सिंह ने 27 मार्च 2018 को विभिन्न विभागों के सचिवों को चिट्ठी से संबंधित निर्देश दिए हैं।
भारतीय जनता पार्टी बदायूं के पैड पर लिखी गई इस चिट्ठी पर सदर विधायक महेश चंद्र गुप्ता, बिल्सी विधायक आरके शर्मा, दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह समेत एमएलसी जयपाल सिंह के हस्ताक्षर हैं। चिट्ठी में जिले में विकास कार्य कराने की मांग की गई है। 10 बिंदु भी विकास से जुड़े गिनाए गए हैं। मुख्य उद्देश्य सपा सांसद धर्मेंद्र यादव की लोकप्रियता को खत्म करना है। ताकि 2019 के संसदीय चुनाव में भाजपा इस सीट पर काबिज हो सके। हालांकि इस चिट्ठी पर किसी तारीख का हवाला नहीं है।
जबकि सूबे के मुखिया के हाथ में जब यह चिट्ठी पहुंची होगी तो कम से कम उस पर तारीख न डालने की गलती विधायकगण या एमएलसी नहीं कर सकते। जाहिर है कि चिट्ठी तैयार होने के बाद और सीएम के हाथ में पहुंचने से पहले ही उसकी तस्वीर किसी ने कैमरे में कैद कर ली।
जबकि सीएम के विशेष कार्य अधिकारी का निर्देश उस चिट्ठी के आधार पर मिलने के बाद उसकी तस्वीर लेकर चिट्ठी को चिट्ठी बम बनाते हुए वायरल कर दिया गया। ताकि यह स्पष्ट हो जाए कि चिट्ठी बम फर्जी नहीं है। पार्टी जिलाध्यक्ष हरीश शाक्य का कहना है कि विधायकगणों ने अपने स्तर से सीएम तक चिट्ठी पहुंचाई है। जांच भी उच्च स्तर से कराई जाएगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here