सोच समझकर जाईये गद्दी चौक वाइनशॉप, हो जाएंगे सीसीटीवी में कैद

242

बदायूं। वाइन, वीयर या व्हिस्की पीने के शौकीनों को अब सावधान रहने की जरूरत है। वजह है कि शहर में ‘चैन के लिए चैन से पीने’ की हर जगह मुनासिब नहीं है। दूर न जाएं तो शहर के बींचोंबीच स्थित गद्दीचौक की अंग्रेजी शराब की दुकान को ही लीजिए। यह दुकान समेत कैंटीन पूरी तरह सीसीटीवी कैमरों से लैस है। ऐसे में चोरी-छिपे इंज्वाय करने का ख्वाब देखना यहां खुद के साथ ठगी से कम नहीं है।
अमूमन हर व्यक्ति बार या मॉडल शॉप में इसलिए बैठकर शराब पीता है, ताकि उसकी गोपनीयता बनी रहे और परिचितों या हमप्याला के साथ कुछ वक्त बिना किसी टेंशन के गुजार सकें लेकिन जिक्र गद्दीचौक की शराब की दुकान का करें तो यहां सीसीटीवी कैमरे दुकान के गेट से लेकर भीतर दोमंजिला कैंटीन तक लगा दिए गए हैं।
लगातार इन कैमरों से यह निगरानी होती रहती है कि कोई व्यक्ति बाहर का खाद्य पदार्थ न ले आए लेकिन यह निगरानी शराब ठेकेदार के लिए तो बेहतर है पर शराब के शौकीनों के लिए घातक।
वजह है कि वहां जाने वाला कोई भी व्यक्ति कैमरे में कैद हो जाता है। जाहिर है कि जब चाहें उसका वीडियो वायरल किया जा सकता है। ऐसे में परिवार के सामने छीछालेदर के अलावा मयकशों को कुछ नहीं मिलेगा।

ये कैसी सुरक्षा
आमतौर पर कैमरे उस जगह लगाना चाहिए, जहां चोरी या किसी अन्य आपराधिक वारदात का खतरा हो। ताकि ग्राहकों समेत संबंधित कंपनी की भी सुरक्षा होती रहे लेकिन बेतुके कैमरे लगाना नए शराब माफिया की ओछी हरकत से ज्यादा कुछ नहीं है।

घटना हुई तो घर पहुंचेगी पुलिस
अपराधियों का किसी को नहीं पता कि वे कहां अपने मंसूबों को अंजाम दे डालें। ऐसे में अगर इस दुकान के आसपास आटोलिफ्टिंग या अन्य कोई घटना हुई तो पुलिस तफ्तीश में कैमरों का रिकार्ड खंगालेगी। इसमें जो व्यक्ति घटना के वक्त वहां पीता या खरीदता दिखा तो समझो उसका पता ठिकाना तलाशने में पुलिस को देर नहीं लगेगी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here