डॉ. उर्मिलेश संगीत रत्न पाने को मंच पर उतरीं प्रतिभाएं, झोंकी पूरी ताकत

203

बदायूं। प्रख्यात गीतकार डॉ. उर्मिलेश की स्मृति में डॉ. उर्मिलेश जन-चेतना समिति द्वारा जनपद की सांस्कृतिक प्रतिभाओं को तलाशने के उद्देश्य से आयोजित दो दिवसीय युवा संगीत रत्न कार्यक्रम के दूसरे दिन कार्यक्रम में जिले की प्रतिभाओं ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। सांस्कृतिक आयोजन में जनपद के विभिन्न दूरदराज के क्षेत्रों एवं नगर क्षेत्र से युवा प्रतिभाओं ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। बच्चों के प्रतिभा देखकर श्रोताओं ने तालियों से उनका उत्साहबर्धन किया।
शाम पांच बजे बदायूँ क्लब में एकल नृत्य के आडीशन लिये गये। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि नगरपालिका, बदायूं की अध्यक्षा दीपमाला गोयल, पूर्व जिला पंचायत पूनम यादव जिसकी मुख्य अतिथि नगरपालिका बदायूं की अध्यक्ष दीपमाला गोयल रहेगी, अध्यक्षता पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष पूनम यादव की रहेगी एवं विषिश्ट अतिथि के रुप में उपजिलाधिकारी सदर पारसनाथ ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर पुष्प एवं स्व. डॉ. उर्मिलेश के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये। कार्यक्रम में प्रतिभागियों को जज करने के लिए बरेली की संगीत कलाकार डॉ. कविता अरोरा ने निर्णायक के रुप में उपस्थित रहीं। सभी अतिथियों एवं निर्णायकों को समिति की ओर से माल्यार्पण कर एवं प्रतीक चिन्ह प्रदान कर सम्मान किया गया। मुख्य अतिथि दीपमाला गोयल ने डॉ. उर्मिलेश की प्रेरणा से आयोजित इस कार्यक्रम की बधाई देते हुये कहा कि बदायूं प्रतिभाओं से परिपूर्ण जनपद है, इन प्रतिभाओं को मंच प्रदान कर आयोजकों से प्रशंसनीय कार्य किया है। समिति के सचिव डॉ. अक्षत अशेष ने सभी का आभार व्यक्त किया। समिति की ओर से बताया कि आडिषन में चुने विजयी प्रतियोगियों को डॉ. उर्मिलेश स्मृति युवा संगीत रत्न पुरस्कार से मुख्य समारोह में जून में सम्मानित किया जायेगा। इस अवसर कार्यक्रम में भा.ज.पा. के जिला महामंत्री शारदेन्दु पाठक, ज्योति मेंहदीरत्ता, अनुपम गुप्ता जिम्मी, दीपक सक्सेना, अनूप रस्तोगी, परविन्दर सिंह दुआ, अध्यक्षा मंजुल शंखधार, डॉ. गोपाल मिश्रा आदि मौजूद रहे। संचालन रवींद्र मोहन सक्सेना ने किया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here