भाजपा नेता के ठेके पर ओवररेट को लेकर फिर बवाल, पुलिस पहुंची

324

10 बजे दुकान बंद करके कैंटीन से बेची जाती है ओवररेट शराब
पहले भी बवाल की वजह बन चुकी है मिश्रित आबादी में स्थित दुकान व कैंटीन
बदायूं। शहर के गद्दी चौक पर स्थित भाजपा नेता के अंग्रेजी शराब के ठेके पर शनिवार रात ओवररेटिंग को लेकर फिर बवाल हो गया। कुछ युवकों और शराब दुकान के स्टाफ के बीच जमकर मारपीट हुई। मौके पर पुलिस भी पहुंची लेकिन तब तक दोनों पक्ष वहां से भाग चुके थे। हालांकि कुछ युवकों के धरे जाने की भी चर्चा है लेकिन मामला भाजपा के शराब ठेकेदार से जुड़ा होने के कारण प्रकरण सुलट गया।
गद्दीचौक पर स्थित शराब की यह दुकान निर्धारित वक्त पर रात के 10बजे बंद हो जाती है लेकिन ओवररेट में शराब बेचने का सिलसिला देर रात तक यहां जारी रहता है। ओवररेट शराब बेचने के लिए काम में लाई जाती है बगल वाली कैंटीन। इसी के जरिये रोजाना यहां शराब बिक्री होती है। शनिवार रात भी यहां महंगे दामों में दारू बेची जा रही थी, इस दौरान वहां पहुंचे कुछ युवकों ने इसका विरोध किया तो दुकान पर काम करने वाले नौकर यह सोचकर आमादा फसाद हो गए कि उनका ठेकेदार भाजपा का नेता है। इधर, विरोधी गुट के युवक भी नहीं दबे नतीजतन मारपीट होने लगी।
समूचे इलाके में भगदड़ के बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां से दोनों गुट फरार हो गए। हालांकि पुलिस शराब ठेकेदार के गुर्गों को चेतावनी देकर चली आई। चर्चा यह भी है कि मौके से दर्जनभर से अधिक बवाली पकड़े गए लेकिन सत्ताधारी नेता पुलिस कार्रवाई के आड़े आ गया और सभी को रिहा करना पड़ा।
बताते चलें कि तकरीबन छह महीने पहले भी इसी कैंटीन पर हुए बवाल के बाद शहरभर में तनाव का माहौल हो गया था। हालांकि उस वक्त कैंटीन पनबड़िया इलाके में स्थित थी। पुलिस ने कैंटीन सील भी कर दी थी लेकिन बाद में पुन: खुलवा दी गई।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here