डॉक्टरों पर मुकदमे के बाद उठाई बेटे की लाश

281

बरेली के अस्पताल में दौरे से बच्चे की मौत का मामला
मोर्चरी में शव छोड़कर लाचार पिता गया था सीएम के द्वार
बदायूं। बरेली के जिला अस्पताल में बच्चे के इलाज के नाम पर घूस मांगने के आरोप में वहां के डाक्टरों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा कायम हुआ है। ऐसा उन हालात में हुआ जब बेबस पिता इस बात पर अड़ गया कि वह बेटे की लाश तब तक नहीं लेगा, जब तक डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती। वहीं सीएमओ बरेली ने डॉक्टरों का पैनल गठित कर इस मामले की जांच का निर्देश दिया है। जिम्मेदारों का कहना है कि जांच में दोषी पाए जाने पर डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
उघैती थाना क्षेत्र के गांव बाला किशनपुर में रहने वाले धर्मपाल के बेटे दीनदयाल को दौरे पड़ रहे थे। बुधवार रात उसे लेकर जिला अस्पताल आए लेकिन यहां संसाधनों के अभाव में इलाज नहीं मिल सका, नतीजतन डॉक्टर ने उसे बरेली रैफर कर दिया। आरोप है कि वहां के डॉक्टरों ने धर्मपाल से इलाज के नाम पर घूस मांगी और घूस न देने पर बच्चे के इलाज में लापरवाही कर दी। नतीजतन मासूम को जान से हाथ धोना पड़ गया। इधर, लाश को वहीं छोड़कर धर्मपाल लखनऊ पहुंचे और सीएम आफिस में पूरा मामला बताया।
वहां से मदद का आश्वासन मिलने पर शुक्रवार रात पुन: बरेली कोतवाली पहुंचे। यहां की पुलिस ने पहले तो लाश का चेहरा दिखाए बगैर रिसीव करने का दबाव बनाया। जबकि धर्मपाल इस मांग पर अड़ गए कि जब तक डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो जाती, वह लाश नहीं लेंगे। इस पर डॉक्टरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here